ईमित्र क्या है ? ई-मित्र की आईडी किस प्रकार ली जाती है?

ईमित्र राजस्थान का द्वारा संचालित एक सभी सरकारी विभागों में एकीकृत सेवा केंद्र है जिसका उद्देश्य है राजस्थान के सभी सरकारी विभागों से जुड़ी सेवाएं व योजनाओं को किसी एक कियोस्क के जरिए आम जनता को उपलब्ध करवाना है।
: यानी सभी सरकारी योजनाओं को एक ही छत के नीचे लाने की योजना थी

ई-मित्र की आईडी किस प्रकार ली जाती है

blog में आप सभी का स्वागत है आज हम जानेंगे कि ई-मित्र की आईडी किस प्रकार ली जाती है

 ई-मित्र  लेने की पूरी  हिंदी में जानकारी दस्तावेज से लेकर आवेदन प्रक्रिया तक
किस प्रकार हम कियोस्क खोल सकते हैं और इसमें कितना टाइम लगता है और क्या क्या दस्तावेज लगते हैं क्या क्या आवश्यकता होती है क्या क्या क्वालीफिकेशन होती है यह सारी चीज है जो ई-मित्र खोलने के लिए जरूरी होती है वह मैं आज आपको इस ब्लॉक में बताऊंगा इसलिए आप इस ब्लॉग को ध्यान पूर्वक पूरा पढ़ें।आखिर क्यों ई मित्र का शब्द हर किसी की जुबान पर है क्या इसे इतनी कमाई होती है क्या  ई-मित्र  इतना पॉपुलर हो चुका है इसीलिए शब्द का इसका इतना महत्व है
 आप भी अगर  ई-मित्र  लेना चाहते हैं आपके पास कंप्यूटर का ज्ञान है ऑनलाइन सर्विस यूज करने का ज्ञान है और आप यह सब काम कर सकते हैं तो आप भी मित्र लेकर आप अपनी अच्छी आमदनी कर सकते हैं । आज ईमित्र पर 400 से भी अधिक प्रकार की सेवाए ऑनलाइन है. जिन्हें आप सभी नागरिको k प्रदान कर अपना कमीशन बाधा सकते है

 ई-मित्र  क्या है एवं इसका उद्देश्य क्या है

 ईमित्र राजस्थान का द्वारा संचालित एक सभी सरकारी विभागों में एकीकृत सेवा केंद्र है जिसका उद्देश्य है राजस्थान के सभी सरकारी विभागों से जुड़ी सेवाएं व योजनाओं को किसी एक कियोस्क के जरिए आम जनता को उपलब्ध करवाना है।
: यानी सभी सरकारी योजनाओं को एक ही छत के नीचे लाने की योजना थी

 ई-मित्र की असफलताएं एवं सफलताएं 

शुरू में जब यह ई मित्र सेवा शुरू की गई थी इसमें इतनी अधिक सेवाएं नहीं थी इसलिए यह शुरुआत में सफल साबित नहीं हो रहा था लेकिन इस को सफल बनाने के लिए बाद में बहुत सारी सेवाओं को ई-मित्र में जोड़ दिया गया है राजस्थान सरकार का यह सबसे सफल प्रोजेक्ट है

ई-मित्र से कमाई कैसे होती है 

ई-मित्र पर दी जाने वाली सर्विस के लिए सरकार ने एक शुल्क निर्धारित किया है वह शुल्क ई मित्र संचालन आमजन से लेता है इसी शुल्क से ई मित्र संचालन की आय अर्जित होती है सरकार ने सभी कार्यों की रेट फिक्स की हुई है इसके अनुसार ही रुपए लेना होता है आप भी ई-मित्र खोलकर कई रुपए कमा सकते हैं वर्तमान में ई-मित्र  कियोस्क वाले 25000 से ₹40000 महीने कमाई कर सकते हैं और फोटो कॉपी और लेमिनेशन और अनेक सुविधाएं बैलेंस जैसी सुविधाएं दे कर भी वह एक्स्ट्रा कमाई कर सकते हैं।

 सबसे महत्वपूर्ण बात की ई-मित्र खोलने पर खर्चा कितना आएगा

 ई-मित्र खोलने पर कोई ज्यादा खर्चा नहीं आता है इसके लिए आपके पास1. दुकान होनी चाहिए 2.कंप्यूटर प्रिंटर मशीन3. स्कैन मशीन
 सिर्फ इसमें ही आप ही मित्र चला सकते हैं हम उनकी लागत बता रहे हैं इसमें कितना खर्चा आएगा 1. एक कंप्यूटर 10000 से ₹20000 2. एक प्रिंटर मशीन और स्कैन मशीन जो 10000 से 15000 रूपये 3. ईमित्र लाइसेंस रजिस्ट्रेशन फीस 2000 से ₹5000  4.कागज स्याही अन्य  खर्चा ₹2000  5.कंप्यूटर डेस्क टेबल दो हजार से ₹4000 6. बायोमैट्रिक फिंगरप्रिंट स्केनर 500 से 4500 7.इसके अलावा आपको एक इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत होती है मेरे हिसाब से आप जियो का हॉटस्पॉट खरीद सकते हो कूल खर्चा  30000 से ₹50000 खर्चा आएगादोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इस ब्लॉग को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करें जिससे किसी जरूरतमंद को जानकारी प्राप्त हो सके और इसी प्रकार के मेरे अन्य ब्लॉग आप को पढ़ना चाहते हो तो आप इस ब्लॉग वेबसाइट को सब्सक्राइब कर ले जिससे आपको नोटिफिकेशन मेल द्वारा प्राप्त हो  जाएगा

ईमित्र से पैसे केसे कमाए या ईमित्र के लिए अच्छी कंपनी कोनसी है इसके लिए यह पोस्ट अवश्य पढ़े

Leave a Reply