भामाशाह योजना बंद और जनाधार योजना शुरू, देखे क्या है फायदे

[पंजीकरण] मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना राजस्थान 2019-20

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना 2019-20 – [आवेदन फॉर्म, पंजीयन स्थिति, प्रमाण पत्र, पात्रता, पंजीकरण] aadhaar.rajasthan.gov.in know your EID – Apply Rajasthan Jan Aadhar Card for All Government Schemes]

सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं एवं सेवाओं का लाभ उठाने के लिए जाने राजस्थान जन आधार योजना के बारे में. फ्लैगशिप भामाशाह कार्ड योजना की जगह इस वर्ष राजस्थान सरकार ने जनाधारा कार्ड योजना शुरू करने का निर्णय ले लिया है. मुख्यतः राजस्थान की पिछली सरकारों ने जो भी निर्णय लेकर छोटी बड़ी योजनाओं का आरंभ किया था , उसमें वर्तमान समय में चल रही मुख्यमंत्री गहलोत की सरकार ने कई नए बदलाव भी किए हैं. भामाशाह कार्ड पर जो भी योजनाएं मेल नहीं खाती थी. उनकी सहूलियत के लिए खासतौर पर ही जनाधार कार्ड योजना को लांच करने की तैयारी शुरू कर दी गई है. जनाधार कार्ड को खासतौर पर 1 वर्ष की वर्षगांठ पर गहलोत जी की सरकार लांच करेगी. इस कार्ड के शुरू हो जाने से सरकार द्वारा चल रही पुरानी योजनाओं पर भी खासतौर से बदलाव होंगे.

Rajasthan Jan Aadhar Card

राजस्थान में 31 मार्च 2020 को सभी भामाशाह कार्ड बंद हो जायेंगे,  1 अप्रैल से सिर्फ जन आधार कार्ड ही राजस्थान में कार्य करेंगें. सरकार ने यह भी कहा कि पंजीयन की सारी जानकारी कार्ड धारकों को उनके पंजीकृत मोबाइल में मिल जाएगी.

भामाशाह कार्ड योजना को राजस्थान की पिछली सरकार भाजपा ने अपनी फ्लैगशिप योजना के अंतर्गत शुरू किया था. वैसे तो भामाशाह कार्ड को वसुंधरा राजे ने अपने कार्यकाल के अंतिम चरण में शुरू करने का विचार किया था. परंतु जैसे ही 2008 में कांग्रेस की सरकार स्थापित हुई , वैसे ही इस योजना के विचार को कहीं पर दफना दिया गया था. जैसे ही 2013 में भाजपा की सरकार बनी, तुरंत वसुंधरा राजे ने इस योजना के शुरू करने के अधूरे काम को पूरा करने का काम शुरू कर दिया.

[wp_show_posts id=”1053″]

मुख्यमंत्री जन आधार योजना क्या है ?
जिस किसी भी प्रकार से भामाशाह कार्ड का लाभ लोगों को मिलना था लगभग, वैसे ही सभी प्रकार की सरकारी सुविधाएं इस कार्ड के अंतर्गत जोड़ी जाएगी. परंतु इसमें थोड़ा अग्रिम एवं उन्नत तकनीक का प्रयोग किया जाएगा. जो भी व्यक्ति योजना के लिए अपात्र होगा, उसे योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा. भामाशाह कार्ड के अंतर्गत कुछ कमियां थी, उन सभी कमियों को इस कार्ड के अंतर्गत सही कर दिया गया है. राजस्थान में लगभग भामाशाह फ्लैगशिप कार्ड योजना के अंतर्गत 1.74 करोड़ लोगों को सरकार की तरफ से लगभग 56 योजनाओं के लाभ को एक कार्ड के जरिए वितरित की जाती थी.

इन सभी योजनाओं को आप इस नए कार्ड पर शिफ्ट कर दिया जाएगा. बुधवार को कांग्रेस सरकार ने सर्कुलर जारी करके यह घोषित कर दिया कि, भामाशाह कार्ड की सभी सुविधाओं से लैस जनाधार योजना को दिसंबर माह में शुरू कर दिया जाएगा. इस नई योजना को शुरू करने में लगभग 17 से 18 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च कांग्रेस सरकार को उठाना पड़ सकता है.

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना की विशेषताएं ?

जनाधार कार्ड से संबंधित कुछ प्रमुख विशेषताएं.

. जन आधार कार्ड के डिजाइन एवं रंग रूप में बदलाव किए गए हैं, इसे एक नए रंग एवं डिजाइन में लोगों को वितरित किया जाएगा.

. इसके पहले के कार्ड में जो भी रिकॉर्ड डाले गए थे वह बहुत सीमित थे, परंतु इस नए जनाधार कार्ड में और भी रिकॉर्ड को जोड़ा जाएगा.

. इसके पहले के भामाशाह कार्ड में शिव का प्रयोग किया गया था, परंतु इस आधुनिक तकनीक से लैस जन आधार कार्ड में क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया गया है. क्यूआर कोड को स्कैन करते ही कार्ड धारक का सारा बायोडाटा कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगा.

. पुराने कार्ड में सिर्फ एक नंबर दिया होता था, जिस पर कार्डधारक के परिवारों का रिकॉर्ड दर्ज रहता था. परंतु इस नए कार्ड के अंतर्गत शामिल परिवारों के परिजनों को अलग-अलग नंबर वितरित किए जाएंगे जो आधार कार्ड से लिंक होगा. ऐसे में हर एक सदस्य का अपना एक अलग रिकॉर्ड उपस्थित रहेगा और अलग डाटा भी तैयार हो सकेगा.

. इसके अतिरिक्त राजस्थान सरकार ने नए राशन कार्ड धारकों को इसी कार्ड को उसी जगह पर प्रयोग करने का विचार विमर्श कर रही है. नया राशन कार्ड बनवाने का झंझट भी खत्म हो सकेगा और सिर्फ एक ही कार्ड से सभी प्रकार के काम हो जाया करेंगे.

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना के तहत मिलने वाले लाभ एवं सेवाएं ?

इस कार्ड के जरिए कार्ड धारकों को सरकार द्वारा प्रदान की जा रही सभी प्रकार की योजनाओं एवं सेवाओं का लाभ सिर्फ एक ही कार्ड के जरिए वितरित किया जाएगा जो निम्नलिखित हैं.

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना के तहत पंजीकरण करवाने की सुविधा ?
पहले से ही पंजीकृत परिवारों को पुनः पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. पंजीकृत परिवारों को नई योजना के अंतर्गत परिजनों के पंजीकृत फोन नंबरों पर 10 अंक का जनाधार नंबर सेंड कर दिया जाएगा या वॉइस कॉल किया जाएगा. इतना होने के बाद नगर निकाय, पंचायत राज और ईमित्र के माध्यम से इस कार्ड को पंजीकृत परिवारों को निशुल्क वितरित किया जाएगा. एसडी कार्ड को जनाधार की ऑफिशियल वेबसाइट एवं एसएसओ आईडी के माध्यम से पंजीकृत परिवार इसको निशुल्क रूप से डाउनलोड कर सकेंगे. इस योजना के तहत पहले से ही पंजीकृत परिवारों के दर्ज विवरण में संशोधन एवं अपडेशन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी. वहीं पर जिस भी सदस्यों का इस योजना के तहत पंजीकरण अभी तक नहीं हुआ है, वह सभी जनाधार पंजीकरण केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण स्वयं करवा पाएंगे. इसके साथ ही आप जनआधार कार्ड केसे प्राप्त करे इसका भी पूरा विवरण इस वेबसाइट पर दिया हुआ है

[wp_show_posts id=”1036″]

Was this post helpful?

Leave a Reply